Hindi Questions For DSSSB Exam : 14 July 2018


हिंदी भाषा CTET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ CTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.CTET ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।

Q1. ‘भाषा-शिक्षण' के संदर्भ में कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a) बच्चे विद्यालय मे भाषा तथा उसके नियम सिखते हैं। 
(b) बच्चे अपने द्वारा बनाए गए भाषा-नियमों में विस्तार एवं परिवर्तन करते हैं। 
(c) समृद्ध भाषा-परिवेश भाषा अर्जित करने में सहायक होता है।
(d) बच्चों की मातृभाषा का कक्षा में प्रयोग नहीं होना चाहिए। 

Q2. ‘भाषा-अर्जन और ‘भाषा-अधिगम' के संदर्भ में कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a) भाषा-अर्जन सहज और स्वाभाविक होता है, जबकि भाषा-अधिगम प्रयासपूर्ण होता है। 
(b) रोजगार प्राप्त करने के लिए ही भाषा सीखी जाती है।
(c) भाषा-अर्जन' के लिए समृद्ध भाषायी परिवेश की आवश्यकता होती है। 
(d) भाषा-अधिगम' में संप्रेषण-कुशलता पर भी बल रहता है। 

Q3. अन्य विषयों की कक्षाएँ भी भाषा-अधिगम में सहायता करती हैं, क्योंकि
(a) अन्य विषयों के शिक्षक विषय के साथ-साथ भाषा भी सिखाते हैं । 
(b) सभी शिक्षक एक से अधक भाषा जानते हैं। 
(c) अन्य विषयों की पाठ्य-पुस्तकें भाषा-शिक्षण के उद्देश्यों को ध्यान में रखती हैं। 
(d) अन्य विषयों को पढ़ने पर वैविध्यपूर्ण भाषा-प्रयोग के अनेक अवसर उपलब्ध होते हैं। 

Q4. बच्चों में भाषा सीखने की क्षमता जन्मजात होती है। अतः
(a) भाषा-शिक्षण का कार्य नहीं किया जाना चाहिए 
(b) भाषा-शिक्षण का कार्य घर पर ही किया जाना चाहिए 
(c) उनकी इस क्षमता का भरपूर प्रयोग करते हुए भाषायी नियम नहीं सिखाए जाने चाहिएँ 
(d) बच्चों को समृद्ध भाषिक परिवेश उपलब्ध कराया जाना चाहिए 

Q5. मुहावरे और लोकक्तियों का प्रयोग करना 
(a) व्याकरण का प्रमुख हिस्सा है। 
(b) हिंदी भाषा-शिक्षण का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य है। 
(c) भाषिक अभिव्यक्ति को प्रभावी बनाता है।
(d) केवल गद्य पाठों के अभ्यासों का हिस्सा है। 

Q6. भाषा-शिक्षण के संदर्भ में कौन-सा कथन सही है?
(a) भाषा-शिक्षण में समृद्ध भाषिक परिवेश उपलब्ध कराना जरूरी है
(b) भाषा की नियमबद्ध व्यवस्था को केवल व्याकरण के माध्यम से ही जाना जा सकता है। 
(c) भाषागत शुद्धता के प्रति अत्यधिक कठोर रवैया अपनाना चाहिए। 
(d) समृद्ध भाषिक परिवेश में बच्चे स्वयं नियमों का निर्माण करते है

Q7. भाषा-शिक्षण का निर्माणकारी उपागम इस बात पर बल देता है कि 
(a) बच्चों को भाषाई नियम कंठस्थ करवाए जाएँ। 
(b) बच्चों की भाषागत शुद्धता पर विशेष बल नहीं देना चाहिए। 
(c) व्याकरण के नियम जानना ही शुद्ध भाषा-प्रयोग का एकमात्र आधार है । 
(d) बच्चे समाज में व्याप्त भाषायी व्यवहार का अवलोकन करते हैं।

Q8. भाषा सीखने-सिखाने की प्रक्रिया में अर्थ गढ़ने का आधार मुख्यतः है
(a) पाठ्य-पुस्तक 
(b) समाज-सांस्कृतिक परिवेश 
(c) शिक्षक द्वारा अर्थ बताना 
(d) शब्द-कोश देखना

Q9. बच्चा स्वभाविक रूप से अपने घर और समाज के वातावरण से ..........अर्जित करता है।
(a) व्याकरण
(b) भाषा 
(c) वाक्य
(d) शब्द 

Q10. भाषा-शिक्षण की प्रक्रिया
(a) भाषा की कक्षा में ही संभव है। 
(b) घर में संभव नहीं है। 
(c) विभिन्न विषयों की कक्षाओं में भी संभव है।
(d) अत्यंत जटिल प्रक्रिया है।

No comments